बढ़ते कोरोना के बीच PM मोदी ने फिर बुलाई बैठक, सभी मुख्यमंत्रियों से 17 मार्च को करेंगे बात

नई दिल्ली। देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच पीएम मोदी ने एक बार फिर सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है. बताया जा रहा है कि 17 मार्च को होने वाली इस बैठक में पीएम मोदी कोरोना के बढ़ते मामले और वैक्सीनेशन पर जोर देने की बातों को लेकर चर्चा करेंगे. पीएम मोदी इस दौरान मुख्यमंत्रियों से कोरोना से अबतक की लड़ाई और वैक्सीनेशन अभियान पर फीडबैक भी लेंगे. पीएम मोदी यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए लेंगे.

पिछले 24 घंटे में नए मामले 26 हजार के पार

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 26,291 नए मामले सामने आए हैं. जिसके बाद देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या1,13,85,339 हो गई है. वहीं कोरोना के चलते 118 नई मौतें भी हुई हैं जिसके बाद कुल मौतों की संख्या 1,58,725 हो गई है. देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 2,19,262 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,10,07,352 है. देश में कुल 2,99,08,038 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई गई है.

पंजाब में बोर्ड परीक्षाएं टलीं

उधर, पंजाब में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राज्य सरकार ने फिर से स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया है. इसके अलावा राज्य सरकार ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं टालने का फैसला लिया है. पंजाब के शिक्षा विभाग के मुताबिक राज्य में 22 मार्च से आरंभ होने वाली 12वीं की परीक्षा अब 20 अप्रैल से 24 मई तक करवाई जाएंगी. वहीं, 9 अप्रैल से शुरू होनी वाली 10वीं की परीक्षाएं अब 4 मई से 24 मई तक करवाई जाएंगी.

सूरत में फिर से खोला गया कोरोना स्पेशल अस्पताल

कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से सूरत में कोरोना स्पेशल अस्पताल फिर से खोले जाने का फैसला लिया गया है. 500 बेड वाले कोरोना के इस अस्पताल को फिर से शुरू किया गया है. कोरोना के मामलों में कमी के बाद इस अस्पताल को बंद कर दिया गया था लेकिन मामले फिर से बढ़ने के बाद प्रशासन ने यह फैसला लिया है.

OMG : द कैप्टन कूल धोनी… बन गए हैं सन्यासी… बच्चों को सुना रहे कहानियां… आप भी देखें

भारतीय क्रिकेट में अपनी खास पहचान बनाने वाले और विश्व विजेता कप्तान का खिताब जीतने वाले महेन्द्र सिंह धोनी ने क्रिकेट से सन्यास ले लिया है। लेकिन उनकी डिमांड आज भी कम नहीं हुई है। कैप्टन कूल के नाम से प्रख्यात माही इन दिनों एक विज्ञापन में नजर आ रहे हैं, जिसमें उन्होंने एक सन्यासी का रूप धरा है।

इस वीडियो में वे हिटमैन रोहित के लालच की कहानी बच्चों को सुनाते नजर आ रहे हैं। इसके साथ ही इसी वीडियो में विराट कोहली के क्रोध की भी कहानी है, जो विज्ञापन के तौर पर कई चैनलों पर नजर आने लगा है।

BREAKING : प्रदेश के 18 अफसर बनेंगे आईएएस… अवार्ड के लिए राज्य… केंद्र को भेजेगी नाम

राज्य प्रशासनिक सेवा के 18 अफसरों को आईएएस कैडर अवार्ड देने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। जानकारी मिली है, बहुत जल्द इन अफसरों के नाम दिल्ली भेजे जाएंगे। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, मध्यप्रदेश के जिन 18 अफसरों को आईएएस अवार्ड देने के लिए तमाम तैयारियां की जा रही हैं, वे 1998 और 1999 बैच के अफसर हैं। काफी समय से उन्हें आईएएस अवार्ड दिए जाने की चर्चाएं जारी थीं, लेकिन अब उन चर्चाओं पर विराम लग जाएगा।

मध्यप्रदेश सामान्य प्रशासन विभाग ने इसके लिए दस्तावेजी तैयारी शुरू कर दी है। सामान्य प्रशासन विभाग अफसरों के नामों की फेहरिस्त सीएम शिवराज सिंह चैहान को भेजेगा। सीएम के अनुमोदन के बाद सभी 18 अफसरों के नाम आईएएस अवार्ड के लिए केन्द्र सरकार को भेज दी जाएगी। नियम के मुताबिक एक पद के लिए पांच अफसरों के नाम पर विचार किया जाता है। यानी अफसरों को आईएएस अवॉर्ड देने के लिए 20 नामों का पैनल बनाया जाएगा। जीएडी से ही पैनल संघ लोक सेवा आयोग जाएगी। चारों पदों के लिए डीपीसी दिल्ली में होगी, जिसकी तारीख भी आयोग एवं कार्मिक मंत्रालय मिलकर तय करेंगे।

GOOD NEWS : अप्रैल से बीयर हो जाएगी सस्ती… शौकीनों के खुशखबरी… झांकना नहीं पडे़गा पड़ोसी राज्य

आमतौर पर गर्मी के दिनों में ठंडी चीजों की मांग बढ़ जाती है। बात चाहे साॅफ्ट ड्रिंक की हो, आईसक्रीम की या फिर चील्ड बीयर की। तो यहां पर खुशखबरी यूपी के बीयर शौकीनों के लिए है। 1 अप्रैल से यूपी में चील्ड बीयर की कीमतों में गिरावट के संकेत मिल रहे हैं। इसका सीधा फायदा नोएडा, गाजियाबाद, वालों को मिल पाएगा, क्योंकि सस्ती बीयर के लिए अब उन्हें दिल्ली की दौड़ लगाने की जरुरत नहीं पड़ेगी।

1 अप्रैल से उत्तर प्रदेश में नई आबकारी नीति लागू हो जाएगी, 2021-22 वित्त वर्ष के लिए यूपी में बीयर के दाम 18-20 फीसदी कम हो जाएंगे, इसका मतलब ये होगा कि बीयर की कीमत तकरीबन 20 रुपये तक कम हो जाएगी। उत्तर प्रदेश में बीयर की 500 मिलीलीटर वाली कैन की कीमत 130 रुपये है, 650 मिलीलीटर वाली बोतल की कीमत 170 रुपये है, ब्रांड के हिसाब से कीमतों में अंतर भी है, लेकिन 130 रुपये से कम की कैन और 170 रुपये से कम की कोई बोतल नहीं है।

BIG BREAKING – शिवम् की हुई वापसी..11 दिन पहले परिजनो के साथ तिरूपती से अपहरण हुआ था शिवम् विजयवाडा में मिला…

बच्चे के परिजनो ने गरियाबंद पुलिस कप्तान भोजराम पटेल का आभार व्यक्त किया

गरियाबंद ज़िले से बड़ी खबर निकल कर आ रही है, आज से ११ दिन पहले अपने परिजनो के साथ तिरूपती मंदिर दर्शन करने गया 6 वर्षीय मासूम बच्चे को अपहरण कर लिया गया था जिसके बाद से ही उसके पूरे परिवार में मातम सा छाया हुआ था जो आज ११ दिनो के बाद आज विजयवाडा में हुआ बारामद बच्चे के पिता जी ने विंडीओ काल के माध्यम से बात किया जहाँ एक ओर गरियाबंद sp भोजराम पटेल ने कमान सम्भाल रखी थी और बच्चे और उनके परिजनो को लगतार जुड़े रहे और उन्हें ये संतवाँना देते रहे उन्हें धैर्य रखने का हौसाल देते रहे कि उनके बच्चे की बहुत जल्द वापसी होगी और वही तिरूपती sp से उनकी लगतार सम्पर्क होते रहाँ .. खबर मिलते ही परिजनो और क्षेत्र वसीयो में खुसी की लहर दौड़ी लोगों ने शोसल मीडिया के माध्यम से बधाईया दी वही

बड़ी खबर : 1 अप्रैल से सप्ताह में केवल 4 दिन की नौकरी… लेकिन 12 घंटे करना होगा काम ! जानिए सरकार की प्लानिंग

नई दिल्ली। 1 अप्रैल से नए वित्त वर्ष की शुरुआत हो रही है और इसी के साथ नए वित्त वर्ष में की नियम कायदों में बदलाव भी देखने को मिल सकते हैं। सबसे बड़ा बदलाव कर्मचारियों के काम के घंटों में होने की संभावना है। मिली जानकारी के मुताबिक नए वित्त वर्ष से working hours 12 घंटे हो सकते हैं। साथ ही कर्मचारियों की ग्रैच्युटी और भविष्य निधि में भी बढ़ोतरी हो सकती है। यहां यह जरूर बता दें कि कर्मचारियों के working hours में बढ़कर भले ही 12 घंटे हो रहे हो लेकिन ऐसी स्थिति में सप्ताह में सिर्फ चार दिन ही काम करना होगा।

1 अप्रैल से लागू हो सकता नया कानून

गौरतलब है कि बीते साल संसद में तीन मजदूरी संहिता विधेयक पारित किए गए थे। इन तीनों कानूनों को अब 1 अप्रैल से लागू किया जा सकता है। यदि ऐसा होता है कर्मचारियों के हाथ में आने वाला पैसा (Take home salary) कम हो जाएगी। साथ ही इसका असर कर्मचारियों (Employee) और नियोक्ता (Employer) सभी पर होगा। इस नए नियम से निजी कंपनियों की बैलेंस शीट भी प्रभावित होगी।

नए वेज कानून से होंगे ये बदलाव

– वेज (Wage) की नई परिभाषा के तहत अब भत्ते कुल सैलरी के अधिकतम 50 प्रतिशत ही होंगे।

– आजाद भारत के 73 साल के इतिहास में पहली बार श्रम कानून में बड़ा बदलाव किया गया है।

– केंद्र सरकार का दावा है कि नए कानून से नियोक्ता और श्रमिक दोनों को फायदा मिलेगा।

– नए नियमों के मुताबिक अब मूल वेतन कुल वेतन का 50 फीसदी या अधिक होना चाहिए। ऐसा होने पर कर्मचारियों की सैलरी का स्ट्रक्चर में बदलाव आ जाएगा।

– चूंकि भविष्य निधि मूल वेतन पर आधारित होती है, इसलिए मूल वेतन बढ़ने से पीएफ बढ़ेगा, जिसका मतलब है कि टेक-होम (Take home salary) या हाथ में आने वाले वेतन में कटौती होगी।

– कर्मचारियों की ग्रैच्युटी और पीएफ में योगदान बढ़ने से रिटायरमेंट के बाद मिलने वाली राशि में बढ़ोतरी होगी।

– नए ड्राफ्ट कानून में अधिकतम 12 घंटे तक काम करने का प्रस्ताव पेश किया गया है।

– नियमों के मुताबिक किसी भी कर्मचारी से 5 घंटे से ज्यादा लगातार काम करने को प्रतिबंधित किया गया है।

कर्मचारियों को हर 5 घंटे के बाद 30 मिनट का आराम देने के निर्देश दिए गए हैं।

BREAKING : शाम पांच बजे के बाद… चार दिनों तक बंद रहेंगे बैंक… तो निपटा लें, जरुरी काम

यदि आपको बैंक का कोई भी जरूरी कार्य करना है, तो ये खबर आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण साबित हो सकती है। 13 मार्च से लगातार चार दिन बैंक बंद रहेंगे। 13 मार्च को माह का दूसरा शनिवार है और 14 मार्च को रविवार है, इसलिए इन दिनों सभी राज्यों में बैंक बंद रहेंगे। इसके बाद 15 और 16 मार्च 2021 को देश के सरकारी और ग्रामीण बैंकों की हड़ताल है। इसलिए अगर आपका कोई बैंकिंग कार्य शेष है तो उसे समय पर पूरा कर लें।

भारतीय रिजर्व बैंक की वेबसाइट के अनुसार, आज 11 मार्च को महाशिवरात्रि के अवसर पर अगरतला, आईजॉल, इंफाल, कोलकाता, गैंगटॉक, गुवाहाटी, चेन्नई, नई दिल्ली, पटना, पणजी और शिलांग के अतिरिक्त सभी राज्यों में बैंक बंद हैं। इससे जुड़ी अन्य जानकारी आपको भारतीय रिजर्व बैंक ( आरबीआई ) की वेबसाइट पर मिल जाएगी।

इसलिए की गई हड़ताल की घोषणा
बैंकों के निजीकरण के विरोध में बैंक यूनियनों ने 15 और 16 मार्च को देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। फोरम ने सरकारी क्षेत्र के दो बैंकों के प्रस्तावित निजीकरण के विरोध में यह हड़ताल बुलाई है।इस साल बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दो सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण का ऐलान किया था। केंद्र सरकार साल 2019 में पहले ही एलआईसी में आईडीबीआई बैंक का अधिकांश हिस्सा बेच चुकी है। इसके साथ ही पिछले चार सालों में 14 सार्वजनिक बैंकों का विलय हुआ है।

BIG NEWS : कल एक दिन शेष… फिर चार दिनों के लिए… बैंकों में लटकेगा ताला… जानिए क्यों…?

यदि आपको बैंक का कोई भी जरूरी कार्य करना है, तो ये खबर आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण साबित हो सकती है। 13 मार्च से लगातार चार दिन बैंक बंद रहेंगे। 13 मार्च को माह का दूसरा शनिवार है और 14 मार्च को रविवार है, इसलिए इन दिनों सभी राज्यों में बैंक बंद रहेंगे। इसके बाद 15 और 16 मार्च 2021 को देश के सरकारी और ग्रामीण बैंकों की हड़ताल है। इसलिए अगर आपका कोई बैंकिंग कार्य शेष है तो उसे समय पर पूरा कर लें।

भारतीय रिजर्व बैंक की वेबसाइट के अनुसार, आज 11 मार्च को महाशिवरात्रि के अवसर पर अगरतला, आईजॉल, इंफाल, कोलकाता, गैंगटॉक, गुवाहाटी, चेन्नई, नई दिल्ली, पटना, पणजी और शिलांग के अतिरिक्त सभी राज्यों में बैंक बंद हैं। इससे जुड़ी अन्य जानकारी आपको भारतीय रिजर्व बैंक ( आरबीआई ) की वेबसाइट पर मिल जाएगी।

इसलिए की गई हड़ताल की घोषणा
बैंकों के निजीकरण के विरोध में बैंक यूनियनों ने 15 और 16 मार्च को देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। फोरम ने सरकारी क्षेत्र के दो बैंकों के प्रस्तावित निजीकरण के विरोध में यह हड़ताल बुलाई है।इस साल बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दो सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण का ऐलान किया था। केंद्र सरकार साल 2019 में पहले ही एलआईसी में आईडीबीआई बैंक का अधिकांश हिस्सा बेच चुकी है। इसके साथ ही पिछले चार सालों में 14 सार्वजनिक बैंकों का विलय हुआ है।

अखिल भारत हिन्दू महासभा सरायपाली द्वारा भगवान शंकर माता पार्वती की भव्य बारात की शोभायात्रा…

अखिल भारत हिन्दू महासभा सरायपाली द्वारा भगवान शंकर माता पार्वती की भव्य बारात की शोभायात्रा की पूजा अर्चना करते हुए साथ में शुद्ध पेय पदार्थों के साथ बारात का स्वागत एवं सेवा किया गया। जिसमें अखिल भारत हिन्दू महासभा के जिलाध्यक्ष जोरावर सिंह सलूजा, उपाध्यक्ष नीरज अग्रवाल, गौरव शर्मा, चंदन पाणिग्रही, सोनू मखीजा, दीपक जोगी, आकाश पाणिग्रही, गुलशन चौरसिया, चंद्र कुमार, दविंदर सलूजा, दिनेश अग्रवाल, ललित जायसवाल, जगबंधु यादव आदि सभी कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

खास खबर:गौ सेवा मांडल सरगुजा के साथ मिलकर गौ सेवा करे

आइए गौ सेवा करें😊🙏🏻

अम्बिकापुर आज शाम लगभग 07.00 बजे सूचना मिली थी कि काली घाट के पास पिछले 4 दिनों से एक गौ माता बीमार पड़ी हुई है जिसके कारण वह उठ भी नहीं पा रही है एक ही जगह बैठे रहने के कारण गाय के पैरों में भयानक रूप से कीड़े लग चुके थे पैर का एक हिस्सा काम नहीं कर रहा है तत्काल गौ माता का उपचार किया गया अब गौ माता पहले से काफी स्वस्थ है।।

आइए हमारे टीम गौ सेवा मांडल सरगुजा के साथ मिलकर गौ सेवा करें..😊

सम्पर्क सूत्र:- 96851 94291
तरुण यादव गौ सेवा मंडल अम्बिकापुर🙏🙏

हेलपिंग हैंड दी वेल्फेयर सोसाइटी के सदस्यों ने ग्रामीण महिलाओं के बीच पहुँच कर मनाया महिला दिवस

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गए। अधिकांश आयोजन के फोकस में शहरी, उन्नतशील महिलाएं थी, लेकिन इसी बीच हेलपिंग हैंड दी वेल्फेयर सोसाइटी द्वारा ग्रामीण महिलाओं के बीच पहुँचकर इस दिवस को मनाया गया। हेलपिंग हैंड वेल्फेयर सोसाइटी के सदस्य चौकसे इंजीनियरिंग कॉलेज के पीछे मौजूद बस्ती में पहुँचे और यहाँ की महिलाओं के साथ केक काटकर अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को सेलिब्रेट किया। संस्था के सदस्य द्वारा ग्रामीण महिलाओं की रोजमर्रा की जीवन मे आने वाली संस्याओं पर चर्चा की गई। इस दौरान मौजूद महिलाओं को साड़ी उपहार में देकर उनका सम्मान किया गया।

संस्थान के अध्यक्ष गौरव बंसल ने महिलाओं के साथ चर्चा करते हुए उनकी संस्याओं को हर मुमकिन समाधान उपलब्ध कराने का वचन दिया। इस अवसर पर गाँव में मौजूद श्रीमती कालेश्वरी जी ने हेलपिंग हैंड दी वेल्फेयर सोसाइटी के सदस्यों के स्नेह से अभिभूत नज़र आई, जिन्होंने नम आँखों के साथ इस प्रयास की सराहना की।

उन्होंने कहा की उनके जीवन में ऐसा पहला अवसर आया है जब किसी संस्था ने उन्हें महिला होने का एहसास कराते हुए इस तरह से सम्मान दिया हो। इस कार्यक्रम में संदीप मिश्रा, अविजित राज सिंह, सुयश वर्मा, इशान रजक, अभिषेक विलियम, जान्हवी आलमचंदानी, अनुराग सोमावार आदि शामिल रहे।

BIG NEWS : कर्मचारियों को हफ्ते में चार दिन करना होगा काम, 3 दिन मिलेगी छुट्टी- मोदी सरकार बदल सकती है नियम

नयी दिल्ली। देश में बन रहे नए श्रम कानूनों के तहत आने वाले दिनों में हफ्ते में तीन दिन छुट्टी का प्रावधान संभव है। श्रम मंत्रालय के मुताबिक केंद्र सरकार हफ्ते में चार कामकाजी दिन और उसके साथ तीन दिन वैतनिक छुट्टी का विकल्प देने की तैयारी कर रही है।

पांच दिन से घट सकते हैं काम के दिन

उनके मुताबिक नए लेबर कोड में नियमों में ये विकल्प भी रखा जाएगा, जिस पर कंपनी और कर्मचारी आपसी सहमति से फैसला ले सकते हैं। नए नियमों के तहत सरकार ने काम के घंटों को बढ़ाकर 12 तक करने को शामिल किया है। काम करने के घंटों की हफ्ते में अधिकतम सीमा 48 है, ऐसे में कामकाजी दिनों का दायरा पांच से घट सकता है।

ईपीएफ के नये नियम

ईपीएफ पर टैक्स लगाने को लेकर बजट में हुए ऐलान पर और जानकारी देते हुए श्रम सचिव ने कहा कि इसमें ढाई लाख रुपये से ज्यादा निवेश होने के लिए टैक्स सिर्फ कर्मचारी के योगदान पर लगेगा। कंपनी की तरफ से होने वाला अंशदान इसके दायरे में नहीं आएगा या उस पर कोई बोझ नहीं पडे़गा। साथ ही छूट के लिए ईपीएफ और पीपीएफ भी नही जोड़ा जा सकता। ज्यादा वेतन पाने वाले लोगों की तरफ से होने वाले बड़े निवेश और ब्याज पर खर्च बढ़ने की वजह से सरकार ने ये फैसला लिया है। श्रम मंत्रालय के मुताबिक 6 करोड़ में से सिर्फ एक लाख 23 हजार अंशधारक पर ही इन नए नियमों का असर होगा।

ईपीएफ पेंशन में बढोतरी का प्रस्ताव नहीं

वहीं न्यूनतम ईपीएफ पेंशन में बढोतरी के सवाल पर श्रम सचिव ने कहा कि इस बारे में कोई प्रस्ताव वित्त मंत्रालय को भेजा ही नहीं गया था। जो प्रस्ताव श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने भेजे थे, उन्हें केंद्रीय बजट में शामिल कर लिया गया है। श्रमिक संगठन लंबे समय से ईपीएफ की मासिक न्यूनतम पेंशन बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। उनका तर्क है कि सामाजिक सुरक्षा के नाम पर सरकार न्यूनतम 2000 रुपये या इससे अधिक पेंशन मासिक रूप से दे रही है जबकि ईपीएफओ के अंशधारकों को अंश का भुगतान करने के बावजूद इससे बहुत कम पेंशन मिल रही है।

काम की खबर : 31 मार्च तक निपटा ले पैन कार्ड से जुड़े ये काम… वरना होगी बड़ी परेशानी… लगेगा भारी जुर्माना

नईदिल्ली। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स ने पर्मानेंट अकाउंट नंबर और आधार लिंकिंग की आखिरी तारीख 31 मार्च 2021 तय की है। अगर आपने 31 मार्च तक यह काम नहीं किया, तो आपका पैन कार्ड बेकार हो सकता है। ऐसी स्थिति में आप पर आयकर अधिनियम की धारा 272बी के तहत 10,000 रुपये का जुर्माना भी लग सकता है।


आयकर विभाग की वेबसाइट से चेंक करें स्टेटस

सबसे पहले आयकर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट http://www.incometaxindiaefiling.gov.in पर जाएं।
यहां बाएं तरफ लिखे क्विक लिंक विकल्प के लिंक आधार पर क्लिक करें।
नए खुले पेज के ऊपर की तरफ हाइपरलिंक होगा, जहां पहले ही आधार लिंक के आवेदन की जानकारी होगी।
इस हाइपरलिंक पर क्लिक कर आपको पैन व आधार की डिटेल भरनी होगी।
इसके बाद व्यू लिंक आधार स्टेटस पर क्लिक करें। आपको पता चल जाएगा कि आपका आधार और पैन लिंक है या नहीं।


एसएमएस के जरिए

अपने फोन में कैपिटल लेटर में आईडीपीएन टाइप करें, फिर स्पेस देकर आधार नंबर और पैन नंबर लिखें।
इस मैसेज को 567678 या 56161 पर भेज दें।
इसके बाद आयकर विभाग दोनों दस्तावेजों को लिंक करने की प्रक्रिया शुरू कर देगा।


ऑनलाइन भी आसान है तरीका

आयकर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर बाईं तरफ क्विक लिंक विकल्प में लिंक आधार पर क्लिक करें।
अगर आपका अकाउंट नहीं बना है तो पहले रजिस्ट्रेशन करें। यहां आपको पैन, आधार नंबर और नाम भरना होगा, जिसका ओटीपी संबंधित मोबाइल नंबर पर आएगा।
ओटीपी भरने के बाद आपका आधार और पैन लिंक हो जाएगा।
अगली स्लाइड में जानते हैं आपको कितना जुर्माना देना पड़ेगा।


इन परिस्थितियों में लगता है जुर्माना

इनकम टैक्स एक्ट 1961 के सेक्शन 272B के तहत इनऑपरेटिव पैन कार्ड का इस्तेमाल करने पर 10,000 रुपये के जुर्माने का भी प्रावधान है। टैक्स एवं इंवेस्टमेंट एक्सपर्ट बलवंत जैन ने कहा था कि पैन कार्ड से जुड़ी गलत जानकारी देने पर भी 10,000 रुपये के जुर्माने का प्रावधान है। साथ ही ऐसे लेनदेन में, जिसमें पैन कार्ड से जुड़ी जानकारी भरना अनिवार्य होता है, वहां पैन कार्ड का विवरण नहीं देने पर भी आपको जुर्माना लग सकता है।

सेकंड क्लास में भी मिलेगा AC का मजा, जनरल कोच को लेकर रेलवे ने तैयार किया मास्टर प्लान

भारतीय रेलवे अब आपकी यात्रा को और आरामदेह बनाने की तैयारी कर रही है। एक ऐसे प्रोजेक्ट पर काम कर रही है, जो आम आदमी के यात्रा करने के तरीके को पूरी तरह से बदल देगा। रेलवे अब द्वितीय श्रेणी के कोच को एसी में कनवर्ट करने के बारे में सोच रही है। इससे लंबी दूरी की यात्रा आरामदेह हो जाएगी। हां, इसके लिए लोगों को अपनी जेबें ढीली करनी पड़ सकती है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इकोनॉमी एसी 3-टियर कोच शुरू करने के बाद, भारतीय रेलवे अब अनारक्षित द्वितीय श्रेणी के कोचों को वातानुकूलित बनाने की दिशा में काम कर रही है। द्वितीय श्रेणी के नए कोच का निर्माण कपूरथला में रेल कोच फैक्टरी (आरसीएफ) में किया जाएगा।

आरसीएफ के जीएम रविंद्र गुप्ता के मुताबिक, इस परियोजना से आम आदमी के लिए भारत में रेल यात्रा का चेहरा बदल जाएगा। वातानुकूलित सामान्य द्वितीय श्रेणी की यात्रा पहले जैसी सहज हो जाएगी। नए एसी सामान्य द्वितीय श्रेणी कोच के लिए लेआउट को अंतिम रूप दिया जा रहा है और आरसीएफ को इस साल अंत तक एक प्रोटोटाइप को रोल आउट करने की उम्मीद है।

फिलहाल सामान्य द्वितीय श्रेणी के कोच में अधिकतम 100 यात्री बैठ सकते हैं। इसे बनाने में लगभग 2.24 करोड़ रुपये का खर्च आता है। नए एसी सामान्य द्वितीय श्रेणी के कोच में बेहतर यात्री सुविधाओं की पेशकश के साथ अधिक यात्रियों के लिए बैठने की व्यवस्था करने की उम्मीद है। इन कोचों का इस्तेमाल लंबी दूरी की मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए किया जाएगा जो 130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से यात्रा कर सकती हैं।

भारतीय रेलवे ट्रेनों की गति 130 किमी प्रति घंटे करने की दिशा में काम कर रहा। राजधानी और शताब्दी जैसी लंबी रूट की ट्रेनों में इसके लिए इंजन भी बदले गए हैं। अब स्लीपर और जनरल कोच वातानुकूलित किए जा रहे हैं। हाल ही में RCF ने एक इकोनॉमी AC 3-टियर कोच के प्रोटोटाइप को रोलआउट किया है जो मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर क्लास के कोच की जगह लेगा। इकोनॉमी एसी कोच का हाल ही में 180 किमी प्रति घंटे की स्पीड पर ट्रायल किया गया।

मिल रही जानकारी के मुताबिक, भारतीय रेलवे वित्त वर्ष 20-21-22 के अंत तक 24 ऐसी ट्रेन तैयार करेगी, जिसमें इकोनॉमी एसी थ्री टायर कोच होंगे। रेलवे बोर्ड द्वारा लेआउट और अन्य डिजाइनों को मंजूरी दिए जाने के बाद द्वितीय श्रेणी के एसी डिब्बे बनाने की योजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

पिछली बार 2016 में अनारक्षित यात्रियों के लिए दीन दयालु कोचों की शुरुआत के साथ भारतीय रेलवे ने अपने सामान्य द्वितीय श्रेणी के डिब्बों को अपग्रेड किया था। दीन दयालु कोचों ने कई यात्री सुविधाओं जैसे कि गद्दीदार सामान रैक, गद्देदार सीटें, कोट हुक, साफ पानी की सुविधा दी। इन कोचों में बॉयो टॉयलेट, अधिक मोबाइल चार्जिंग पॉइंट जैसी भी व्यवस्था दी गई।

प्रधानमंत्री के विदेश दौरों की जल्द होगी शुरुआत, कोरोना काल से कूटनीति के बाहर निकलने के संकेत

नई दिल्ली। कोरोना की वजह से राष्ट्र प्रमुखों के विदेश दौरे पर लगी रोक अब खत्म होने के संकेत हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस महीने 26 तारीख से बांग्लादेश दौरे से विदेश यात्राओं की शुरुआत हो जाएगी। विदेश मंत्रालय में पीएम मोदी की मई, 2021 में यूरोपीय संघ की यात्रा को लेकर भी तैयारी जोरों पर है। यूरोपीय संघ की यात्रा के कुछ ही समय बाद मोदी जून, 2021 में समूह-7 देशों की बैठक में हिस्सा लेने ब्रिटेन भी जा सकते हैं। यूरोपीय संघ और ब्रिटेन की यात्रा के दौरान पीएम कुछ अन्य देशों को भी अपनी यात्रा के रूट में शामिल कर सकते हैं।

विदेशी मेहमानों के भी भारत आने को लेकर विमर्श जारी

इसके साथ ही कुछ विदेशी मेहमानों के भी भारत आने को लेकर विमर्श का गंभीर दौर चल रहा है। इसमें सबसे पहले जापान के पीएम योशीहिदे सुगा और रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के भारत आने को लेकर भारतीय विदेश मंत्रालय जापान व रूस के विदेश मंत्रालयों के संपर्क में है। इन दोनों राष्ट्राध्यक्षों को दिसंबर, 2019 में भारत आना था लेकिन कुछ वजहों से तब यह दौरा स्थगित हो गया था। बाद में कोरोना की वजह से यात्रा नहीं हो सकी। वैसे इस साल (2021) में भारत ब्रिक्स संगठन की अध्यक्षता कर रहा है। कोरोना से यदि हालात और न बिगड़े तो 2021 के मध्य के बाद ब्राजील, रूस, दक्षिण अफ्रीका और चीन के राष्ट्राध्यक्ष भारत दौरे पर आ सकते हैं। हाल ही में ब्रिक्स देशों के शेरपाओं (संगठन की तैयारियों पर अंतिम फैसला करने वाले सभी देशों के प्रतिनिधि) की पहली बैठक हुई जिसमें संगठन के तहत होने वाली छह शीर्ष स्तरीय बैठकों के बारे में शुरुआती चर्चा की गई है।

व्यक्तिगत मेल-मिलाप की अपनी अहमियत

सूत्रों का कहना है कि कोरोना की वजह से वर्चुअल बैठक कूटनीति की नई सच्चाई बन गई है। इसके बावजूद द्विपक्षीय रिश्तों को तय करने और उनकी दिशा बनाने में व्यक्तिगत मेल-मिलाप की अपनी अहमियत है और यह आगे भी बनी रहेगी। हाल के दिनों में पीएम मोदी की जिन विदेशी नेताओं से बात हुई है उसमें कई ने उन्हें अपने देश आने के लिए आमंत्रित किया है। मसलन, ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन और आस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरीसन ने मोदी के साथ टेलीफोन वार्ता में उन्हें अपने देश की यात्रा पर आने के लिए आमंत्रित किया था।

हमेशा की तरफ प्रधानमंत्री विदेश दौरों की शुरुआत पड़ोसी देशों के साथ कर रहे हैं। 26 और 27 मार्च, 2021 को वह बांग्लादेश की यात्रा के बाद निकट भविष्य में उनके नेपाल जाने की भी संभावना है। वैसे इस बारे में फैसला पड़ोसी देश नेपाल में राजनीतिक माहौल देख कर किया जाएगा।

विदेश मंत्री जयशंकर आज जाएंगे ढाका

पीएम नरेंद्र मोदी की बहुप्रतीक्षित बांग्लादेश यात्रा से ठीक पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर गुरुवार चार मार्च को ढाका जा रहे हैं। जयशंकर ढाका में बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना के साथ ही वहां के विदेश मंत्री से भी अलग-अलग मुलाकात करेंगे।

वीर सावरकर जी महान राष्ट्रभक्त ,हिंदुत्व के प्रणेता, प्रखर वक्ता, वकील , लेखक,एवं कवि थे। भारत की स्वतंत्रता में सावरकर जी का योगदान हमेशा याद रखा जाएगा।

आज दिनांक 26/02/2021 को अखिल भारत हिन्दू महासभा सरायपाली द्वारा वीर सावरकर जी की पुण्यतिथि मना कर उन्हे श्रद्धांजलि दी गई। जिसमे जिलाध्यक्ष जोरावर सिंह सलूजा, उपाध्यक्ष नीरज अग्रवाल, गौरव शर्मा, चंदन पाणिग्रही,अभिषेक गुप्ता, सोनू मखीजा, प्रवीण बारीक, गुलशन चौरसिया, आकाश पाणिग्रही, ललित जायसवाल, जगबंधु यादव आदि सदस्य उपस्थित थे।

भारतीय रेल : होली से पहले स्पेशल ट्रेनें चलाएगा रेलवे, जानिए- कहां से चलेंगी ट्रेनें, क्या है रूट व टाइमिंग

नई दिल्ली। देश में त्यौहार का सीजन आते ही ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ बढ़ जाती है। इस साल भारतीय रेलवे ने रेल यात्रियों को राहत देते हुए होली के मौके पर कुछ स्पेशल ट्रेनें चलाने का ऐलान किया है। कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान कई ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया था। देश में कोरोना के मामले कम होने और कोरोना वैक्सीन के आ जाने से कई ट्रेनों के संचालन की प्रक्रिया फिर से शुरू कर दी गई है।
एक मार्च से चलेंगी ट्रेनें

भारतीय रेलवे ने घोषणा की है कि वह होली के मौके पर एक मार्च से कई ट्रेनों का संचालन शुरू करेगा। इन स्पेशल ट्रेनों के चलने से सबसे अधिक राहत उत्तर प्रदेश और बिहार के यात्रियों को मिलेगी। कोरोना काल के बाद स्पेशल ट्रेनों के संचालन की खबर वाकई सुकून देने लायक है।
कहां से कहां तक चलेंगी ट्रेनें
भारतीय रेलवे ने जानकारी देते हुए बताया है कि एक मार्च से 05054/05053 लखनऊ-छपरा-लखनऊ स्पेशल ट्रेन और 05083/05084 छपरा-फर्रूखाबाद-छपरा स्पेशल ट्रेन का संचालन किया जाएगा। इस ट्रेन में सभी कोच आरक्षित श्रेणी के होंगे। छपरा से लखनऊ के बीच चलने वाली स्पेशल ट्रेन हफ्ते में चार दिन चलेगी। छपरा से फर्रुखाबाद के बीच चलने वाली स्पेशल ट्रेन का संचालन हफ्ते में तीन दिन और फर्रुखाबाद से छपरा के बीच चलने वाली स्पेशल ट्रेन का संचालन हफ्ते में दो दिन किया जाएगा।
इसके अलावा डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस (02503/02504) जो कि अभी सप्ताह में एक दिन चलती है, उसे होली के मौके पर पांच दिन चलाया जाएगा। इस ट्रेन का संचालन 16 फरवरी से रविवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार और शनिवार को शुरू किया जा चुका है। इस ट्रेन के चलने से उत्तर प्रदेश, बिहार और असम के यात्री लाभान्वित होंगे।
पश्चिम रेलवे ने 22 स्पेशल ट्रेन चलाने का लिया निर्णय
वहीं पश्चिम रेलवे ने विभिन्न रूट्स पर 11 जोड़ी यानी 22 नई स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है। ये ट्रेनें दिल्ली, मध्य प्रदेश, मुंबई समेत कई रूट्स के बीच चलाई जाएंगी। रेलवे के मुताबिक ये सभी नई स्पेशल ट्रेनें पूरी तरह आरक्षित हैं। यानी पश्चिम रेलवे द्वारा चलाई जाने वाली इन नई ट्रेनों में सफर के लिए पहले से बुकिंग जरूरी है। ट्रेन में यात्रा के दौरान रेलवे द्वारा निर्धारित कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना अनिवार्य है।

Indian Railways : रेल यात्रा के दौरान भूलकर भी न करें ये गलती, नहीं तो देना पड़ेगा जुर्माना

कोरोना महामारी के कारण बंद रेल सेवा अब धीरे-धीरे शुरु हो रही है। ऐसे में भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने ट्रेन से यात्रा करने वाले लोगों को जरूरी गाइडलाइंस पालन करने की सलाह दे रहा है। रेलवे ने किसी भी तरह की परेशानी से बचने के लिए इन गाइडलाइंस का पालन करने का आग्रह यात्रियों से किया है। रेलवे के इन गाइडलाइंस में मास्‍क पहनने और आरोग्‍य सेतु एप डाउनलोड करने जैसी अहम सलाहें दी गई हैं।यात्रा के दौरान कोविड गाइडलाइंस का पालन कराने के लिए रेलवे अब सख्ती बरत रहा है। बता दें कि केवल पश्चिम रेलवे यात्रियों को मस्क न पहनने पर फरवरी में 2200 यात्रियों पर जुर्माना लगाया है। इन यात्रियों से 3 लाख 21 हजार रुपये की वसूली हुई है।

-गाइडलाइंस के अनुसार, रेलवे स्‍टेशन पर एंट्री केवल कन्‍फर्म टिकट के जरिये की जा सकेगी। इसके साथ ही रेलवे स्‍टेशन से बाहर निकलने के लिए भी टिकट दिखाना जरूरी होगा।

-यात्रियों को यात्रा के समय से करीब 90 मिनट पहले स्‍टेशन पहुंचना होगा ताकि थर्मल स्‍क्रीनिंग की प्रक्रिया को पूरा किया जा सके।

-रेलवे स्‍टेशन पर सभी यात्रियों की थर्मल स्‍क्रीनिंग होगी। ट्रेन में एंट्री करते समय और यात्रा के दौरान मास्‍क पहना जरूरी होगा।

-सफर के पहले सभी यात्रियों के लिए आरोग्‍य सेतु APP को डाउनलोड करना जरूरी है।

-यात्रा के दौरान कंबल, चादर, पर्दे रेलवे की ओर से उपलब्‍ध नहीं कराए जाएंगे।

-इसके साथ ही यात्रियों को सुविधा के लिहाज से कम से कम लगेज रखने की सलाह दी गई है।

ट्रेन पर चढ़ते समय और यात्रा के दौरान शारीरिक दूरी के नियम को पालन करना यात्रियों के लिए जरूरी है।

यात्रियों के लिए गंतव्‍य स्‍थान (डेस्टिनेशन स्‍टेट/यूटी) के हेल्‍थ प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।

भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की अहम बैठक आज, पीएम मोदी करेंगे संबोधित, जानें किन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा?

नयी दिल्ली। पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव और कृषि कानूनों पर जारी घमासान के बीच भारतीय जनता पार्टी की आज एक अहम बैठक होने वाली है। भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की आज यानी रविवार को होने वाली बैठक में किसान आंदोलन, आगामी पांच विधानसभाओं के चुनाव के साथ अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव पर भी केंद्रीय नेतृत्व की खास नजर रहेगी। साथ ही जिन राज्यों में पार्टी को अपेक्षित चुनावी सफलता नहीं मिल पा रही है, उन पर भी विचार विमर्श किया जाएगा। किसान आंदोलन के जारी रहने का असर भी बैठक पर रहेगा और हर राज्य की तरफ से अपने यहां की अद्यतन जानकारी दी जाएगी।

इसके पहले शनिवार को भाजपा के विभिन्न राज्यों के संगठन मंत्रियों ने केंद्रीय नेतृत्व के साथ बैठक कर अपने-अपने राज्यों की संगठनात्मक और राजनीतिक गतिविधियों का ब्यौरा दिया। हालांकि, अधिकांश समय संगठनात्मक कार्यों एवं अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई, लेकिन चुनाव वाले राज्यों ने अपने यहां की राजनीतिक स्थिति की रिपोर्ट भी रखी। इस बैठक के बाद महासचिवों के साथ पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंथन किया। इन बैठकों में रविवार की बैठक के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है, ताकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में हर राज्य से सारे राजनीतिक और संगठनात्मक गतिविधियों के की जानकारी रखी जा सके।

मोदी-शाह भी रहेंगे मजूद

बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह समेत प्रमुख केंद्रीय नेता भी मौजूद रहेंगे। कई बार प्रधानमंत्री खुद भी सवाल पूछते हैं, इसलिए सभी राज्यों के संगठन मंत्रियों ने अपनी रिपोर्ट को चाक-चौबंद कर लिया है। रविवार की बैठक में प्रदेश अध्यक्ष द्वारा अपने-अपने राज्यों की जानकारी देंगे और उसमें चुनाव वाले राज्यों पर खास जोर रहेगा। सूत्रों के अनुसार बैठक में अगले एक साल के अंदर आने वाले चुनाव को लेकर भी चर्चा की जाएगी। अगले साल की शुरुआत में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब के विधानसभा चुनाव होने है।

किसान आंदोलन पर फीडबैक लेंगे

बैठक में किसान आंदोलन को लेकर विभिन्न राज्यों की स्थिति और वहां के फीडबैक को भी लिया जाएगा। खासकर दिल्ली के आसपास के राज्यों उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब व राजस्थान की रिपोर्ट इस मामले में महत्वपूर्ण होगी। इसके अलावा मध्य प्रदेश व महाराष्ट्र से भी किसान आंदोलन को लेकर जानकारी ली जाएगी। जिस तरह से किसान आंदोलनकारी ऐसे लंबा खींच रहे हैं उससे पार्टी सभी राज्यों को लेकर सतर्क है। उसकी कोशिश है कि किसानों तक सरकार की बात पूरी तरह पहुंचे।

आपदा के मृतक की चार बेटियों को सोनू सूद ने लिया गोद…

नई दिल्ली। कोरोनाकाल में जरूरतमंदों की हर तरह से मदद करने वाले बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद अब चमोली आपदा के पीड़ि‍त परिवार का सहारा बन गए है जा हाँ उन्होंने टिहरी जिले की दोगी पट्टी के एक पीड़ि‍त परिवार की चार बेटियों को गोद लिया है। आपदा ने इन बच्चों के सिर से पिता का साया छीन लिया है। अभिनेता सोनू सूद की टीम ने पीड़ि‍त परिवार की मदद के लिए हाथ बढ़ाने की पुष्टि की।

जानकारी अनुसार 45 वर्षीय आलम सिंह विष्णुगाड जल विद्युत परियोजना से जुड़ी ऋत्विक कंपनी में इलेक्ट्रीशयन के पद पर कार्यरत थे। जल प्रलय के दिन आलम सिंह परियोजना की टनल के भीतर काम करने गए थे, लेकिन उसके बाद लौटे नहीं। आठ दिन बाद मलबे में दबा उनका शव मिला उनके निधन से पूरा परिवार बेबस और बिना सहारे के रह गया है. आलम की चार बेटियां भी हैं जो अपने पिता के जाने से बुरी तरह टूट गई. जिसके बाद अब सोनू सूद की तरफ से इन बेटियों को नया भविष्य देने की तैयारी है. एक्टर की टीम ने बताया है कि सोनू इस परिवार की चारों बेटियों को गोद लेना चाहते हैं. वे उनकी पढ़ाई से लेकर शादी तक, हर खर्चा उठाने को तैयार हैं।

आपको बता दें वैसे ये पहली बार नहीं है जब सोनू सूद की तरफ से इतने बड़े पैमाने पर मदद करने की बात कही गई हो. पिछले साल जब बिहार और असम में भी बाढ़ का प्रकोप देखने को मिला था, तब सोनू सूद की तरफ से काफी मदद पहुंचाई गई थी. किसी को पढ़ाई के लिए किताबें दी गई थीं तो किसी का नया घर बनवाया गया. सिर्फ यही नहीं एक्टर ने प्रभावित राज्यों में नौकरी देने की एक अनूठी मुहिम भी शुरू की थी. सोनू की वो मदद देख ही अब कहा जा रहा है कि चमोली त्रासदी में भी लोगों की जिंदगी बदलने में एक्टर निर्णायक भूमिका निभाते नज़र आनेवाली है।