BIG BREAKING : मुख्यमंत्री पर हमला… सीएम का आरोप, भाजपा की साजिश…

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नंदीग्राम में प्रचार के दौरान घायल हो गई हैं, उनके पैर में चोट लगी है। बताया जा रहा है कि उनके पैर में सूजन है। उन्होंने इसे बीजेपी की साजिश बताते हुए कहा है कि उन पर हमला हुआ है। नामांकन दाखिल करने के बाद वह लगातार मंदिरों में दर्शन कर रही थीं और लोगों से मिल रही थीं। इसी दौरान एक जगह भीड़ होने पर उनके पैर में चोट लगी है। वहीं, बीजेपी ने कहा है कि ममता बनर्जी सहानुभूति बटोरने की कोशिश कर रही हैं।
ममता बनर्जी ने कहा है, ”4-5 लोगों ने मुझे धक्का दिया, जब मैं गाड़ी के पास थी। मेरा पैर कुचलने की कोशिश की गई। मेरे पैर मैं सूजन है। मैं अब कोलकाता जा रही हूं, डॉक्टर को दिखाने के लिए। बहुत दर्द है। बुखार भी आ गया है। कोई पुलिसकर्मी नहीं था। 4-5 लोगों ने जानबूझकर यह किया है। यह साजिश है।” वहीं टीएमसी ने कहा है कि चार-पांच लोगों ने उनपर हमला किया। यह साजिश के तहत किया गया है। पार्टी इसकी शिकायत चुनाव आयोग से करेगी।
ममता बनर्जी को इलाज के लिए कोलकाता ले जाया जा रहा है। रात होने की वजह से चॉपर उड़ान नहीं भर सकता है, इसलिए उन्हें सड़क मार्ग से ही ले जाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इसके लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है। कोलकाता में दो अस्पताल तैयार रखे गए हैं।

बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ”वह मुख्यमंत्री है और यहां के हालात हैं, 300-400 पुलिसकर्मियों के साथ रहते हैं, कोई सपने में भी नहीं सोच सकता है कि ममता बनर्जी पर हमला करे। हमला तो दूर की बात है कोई आंख उठा कर नहीं देख सकता है। यह एक्सिडेंट हो सकता है। लेकिन हमला करने की हिम्मत नहीं कर सकता है। वह सहानुभूति बटोरने की कोशिश कर रही हैं।” बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता सामिक भट्टाचार्य ने कहा, ”मैं कामना करता हूं कि वह जल्दी रिकवर कर जाएं। उनके आसपास पुलिसकर्मी और समर्थक थे।”
पश्चिम बंगाल में बीजेपी के उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह ने कहा, ”क्या तालिबान ने उनके पैर पर हमला किया। बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी उनके साथ रहते हैं। कौन उनके नजदीक जा सकता है? 4 आईपीएस अधिकारी उनकी सुरक्षा में तैनात हैं, उन्हें तुरंत सस्पेंड करना चाहिए। हमला करने वालों को गिरफ्तार किया जाए। वह सानुभूति के लिए नाटक कर रही हैं।”
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को नंदीग्राम विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया और जीतने का विश्वास जताते हुए कहा कि वह नंदीग्राम से कभी खाली हाथ नहीं लौटी हैं। इस सीट पर उनका मुकाबला पूर्व में अपने सहयोगी और अब भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी से होगा। बनर्जी ने तृणमूल प्रदेश अध्यक्ष सुव्रत बक्शी की उपस्थिति में हल्दिया सब डिविजनल कार्यालय में नामांकन दाखिल किया।
इससे पहले उन्होंने दो किलोमीटर लंबे रोड शो में हिस्सा लिया और एक मंदिर में पूजा अर्चना की। नामांकन दाखिल करने में बाद बनर्जी एक और मंदिर गईं। मुख्यमंत्री कोलकाता की भवानीपुर सीट छोड़ने के बाद पहली बार नंदीग्राम से चुनाव लड़ रही हैं। उन्होंने नंदीग्राम में एक घर किराए पर लिया है जहां से वह चुनाव प्रचार करेंगी।

CM ममता का मोदी सरकार पर हमला, कहा- पहले दिल्ली संभालो फिर बंगाल की ओर देखना

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तृणमूल कांग्रेस सरकार के खिलाफ ‘‘झूठ और अफवाह फैलाने के लिए” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोमवार को आलोचना की और कहा कि इस बार मतदाता राज्य में सभी 294 निर्वाचन क्षेत्रों में ‘दीदी बनाम भाजपा’ के मुकाबले का गवाह बनेंगे। कोविड-19 टीकाकरण प्रमाण पत्रों पर प्रधानमंत्री की तस्वीर शामिल किए जाने को लेकर कटाक्ष करते हुए बनर्जी ने कहा कि ‘वह दिन दूर नहीं, जब समूचा देश उन्हीं के नाम पर होगा।’ पश्चिम बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता में आने का भरोसा जताते हुए तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा, ‘‘सभी 294 सीटों पर मेरे और भाजपा के बीच मुकाबला है।”

सीएम ममता ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि पहले दिल्ली को संभालो फिर बंगाल की ओर देखना। उन्होंने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी गैस, पेट्रोल और डीजल के दाम बेतहाशा बढ़ा रहे हैं और गरीबों पर जुल्म कर रहे हैं। उन्होंने फिर कहा कि विधानसभा चुनावों में मैं गोलकीपर रहूंगी और बीजेपी एक भी गोल नहीं कर पाएगी। मुख्यमंत्री बनर्जी इतने में ही नहीं रुकी उन्होंने आगे कहा कि बंगाल पर बंगाल शासन करेगा। बंगाल पर गुजरात शासन नहीं करेगा। मोदी बंगाल पर राज नहीं करेंगे। बंगाल पर गुंडे और बदमाश राज नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘वे (भाजपा नेता) केवल चुनाव के दौरान बंगाल आएंगे और अफवाह तथा झूठ फैलाएंगे। वह हमें महिलाओं की सुरक्षा पर सीख दे रहे हैं। भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं की क्या स्थिति है? मोदी के पसंदीदा गुजरात में क्या हालात हैं?” उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री के नाम पर स्टेडियम का नाम रखा गया। कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्रों में उनकी तस्वीरें लगायी गयीं। एक दिन आएगा जब समूचा देश उनके नाम पर होगा।” महिलाएं पश्चिम बंगाल में सुरक्षित महसूस नहीं करती हैं, प्रधानमंत्री के इस दावे को खारिज करते हुए बनर्जी ने कहा, ‘‘अगर ऐसी बात होती तो वे रात में आजादी से घूम नहीं पातीं।”

प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए बनर्जी ने कहा कि मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को ‘आदर्श राज्य’ गुजरात समेत सभी भाजपा शासित राज्यों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए, जहां मीडिया की खबरों के मुताबिक पिछले दो साल से हर दिन दुष्कर्म की चार घटनाएं और दो हत्याएं हो रही हैं। मध्य कोलकाता में कॉलेज स्कवायर इलाके में तृणमूल कांग्रेस की रैली शुरू हुई और यह करीब पांच किलोमीटर दूर दोर्नियां क्रॉसिंग पर खत्म हुई। पार्टी की वरिष्ठ नेता चंद्रिमा भट्टाचार्य और माला रॉय भी मार्च में शामिल हुईं। रैली में पार्टी की अन्य महिला उम्मीदवारों ने भी हिस्सा लिया।

ममता के मंत्री की मतदाताओं को धमकी… कहा- वोट नहीं दिया तो बिजली-पानी सब बंद कर देंगे

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव नजदीक आने के साथ ही राजनीतिक पार्टियां मतदाताओं को अपने-अपने तरीके से लुभाने की कोशिश में लगी हैं। इस बीच, कुछ नेता वोटों की खातिर नैतिकता भूल मतदाताओं को डरा धमका कर अपने पाले में कर रहे हैं। ममता सरकार में कृषि मंत्री तपन दासगुप्ता ने वोट नहीं मिलने पर मतदाताओं को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी है।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, टीएमसी विधायक और बंगाल के कृषि मंत्री तपन दासगुप्ता ने राज्य विधानसभा चुनाव में वोट नहीं मिलने पर मतदाताओं को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी है। हुगली में एक बैठक में सप्तग्राम विधानसभा के टीएमसी उम्मीदवार तपन दासगुप्ता ने मतदाताओं को यह धमकी दी।

धमकी : वोट नहीं, तो बिजली और पानी नहीं
तपन दासगुप्ता ने शनिवार को एक रैली में कहा, ”जिन क्षेत्रों से मुझे वोट नहीं मिलेंगे, उन इलाकों में बिजली और पानी नहीं पहुंचेगा। ये तय है। वे इसके लिए भाजपा से कह सकते हैं।” तपन दासगुप्ता 2011 में वाम मोर्चे के अपने प्रतिद्वंद्वी को हराकर हुगली में सप्तग्राम के विधायक बने। वर्ष 2016 के बंगाल चुनावों में भी उन्होंने सप्तग्राम सीट जीती थी। दासगुप्ता को अब 2021 पश्चिम बंगाल चुनाव में लड़ने के लिए एक ही सीट दी गई है।

गद्दारों से निपटने की दी थी धमकी
बता दें कि यह पहली बार नहीं है, जब तृणमूल कांग्रेस के किसी उम्मीदवार ने विधानसभा चुनावों में पार्टी को वोट न देने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी हो। विधानसभा चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल में टीएमसी विधायक हमीदुल रहमान को मतदाताओं को धमकाते हुए पकड़ा गया था।

दिनाजपुर में एक जनसभा में हमीदुल रहमान ने कहा था कि चुनाव के बाद गद्दारों से निपटा जाएगा। हमीदुल रहमान ने लोगों को यह कहते हुए टीएमसी के लिए वोट करने के लिए कहा कि जो लोग पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को अपनी सरकार के लाभों का आनंद लेने के बाद भी गद्दारी करते हैं, उन्हें गद्दार के तरह काम दिए जाएंगे।

BREAKING : बिग्रेड ग्राउंड में प्रधानमंत्री मोदी की रैली से पहले अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती भाजपा में शामिल

कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कोलकाता के बिग्रेड परेड ग्राउंड में एक विशाल रैली को संबोधित करेंगे। इससे पहले अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती, दिलीप घोष और कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए। पार्टी उपाध्यक्ष मुकुल रॉय और सुवेंदु अधकारी भी यहां मौजूद रहे। बता दें कि देर रात बंगाल में भाजपा के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने उनसे मुलाकात की थी। इसके बाद से ही कहा जा था कि वह भाजपा में शामिल होंगे। प्रदेश भाजपा नेताओं ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री की रैली ऐतिहासिक होगी। इसमें 10 लाख से अधिक लोगों की भीड़ जुटेगी। सभा स्थल और कोलकाता में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। ड्रोंन से भी निगरानी हो रही है। मैदान के आसपास 1500 सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। वहीं 3000 से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात हैं। बता दें कि विधानसभा चुनाव से पहले कई टीएमसी नेता भाजपा में शामिल हुए हैं।
अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती दिलीप घोष और कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए।

कोलकाता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के लिए बड़ी संख्या में लोग ब्रिगेड परेड ग्राउंड में जमा हुए हैं।

सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय को परिलक्षित करता है छत्तीसगढ़ सरकार का बजट- कोको पाढ़ी

रायपुर। छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस अध्यक्ष पूर्णचंद (कोको) पाढ़ी ने छत्तीसगढ़ सरकार के बजट को सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय के सिद्धांतों को परिलक्षित करने वाला बजट बताया है।
कोको ने छत्तीसगढ़ सरकार के बजट का स्वागत करते हुए कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार के बजट में जन आकांक्षाओं का सम्मान करते हुए छात्रों, युवाओं, महिलाओं, किसानों कर्मचारियों सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है।
बजट सरकार का एक विजनरी डॉक्यूमेंट होता है, नए अंग्रेजी मीडियम स्कूल, नवीन महाविद्यालय, कन्या महाविद्यालय, नए छात्रावासों की स्थापना, रूलर इंड्रस्ट्रीयल पार्क की स्थापना, छत्तीसगढ़ के उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए सी-मार्ट, व्यवसायिक कौशल को पुनर्जीवित करने के लिए चार नए बोर्डों का गठन, भूमिहीन कृषकों के लिए नवीन न्याय योजना, तेंदूपत्ता संग्राहकों के लिए शहीद महेंद्र कर्मा सामाजिक सुरक्षा योजना, कन्या छात्रावासों के लिए महिला होमगार्ड के पदों का सृजन, असंगठित श्रमिकों के लिए राज्य स्तरीय हेल्प सेंटर, छत्तीसगढ़ सरकार के विजन को दर्शाते हैं कि छत्तीसगढ़ सरकार हर वर्ग के कल्याण हेतु समर्पित है।
छत्तीसगढ़ सरकार का यह बजट छत्तीसगढ़ को नई दिशा देने वाला है जो आने वाले वर्षों में मील का पत्थर साबित होगा।

अमित द्विवेदी,
प्रदेश मीडिया समन्वयक,
छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस!

BREAKING : कांग्रेस विधायकों का ऐलान… साइकिल से जाएंगे सदन… इस पर भाजपा का बयान… गधे पर भी जा सकते हैं… कांग्रेस तय कर ले

देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में आग लगी हुई है। इस मुद्दे को लेकर देशभर में कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन जारी है। जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है, वहां पर कार्यकर्ताओं ने मोर्चा संभाला है, और जहां विपक्ष में बैठी है, वहां विधायकों का विरोध प्रदर्शन जारी है। ऐसे में मध्यप्रदेश के कांग्रेस विधायकों ने साइकिल से विधानसभा जाने का ऐलान किया है। इस पर गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा का बयान सामने आया है। डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि साइकिल में जाएं, गधे में जाएं, घोड़े पर जाएं यह कांग्रेस को तय करना है।

विधानसभा उपाध्यक्ष पद को लेकर मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि यह परंपरा कांग्रेस ने शुरू की है, बीजेपी ने परंपरा का निर्वाहन किया है। हमारी बहुमत की सरकार है, अल्पमत की सरकार नहीं है। ममता बनर्जी के बयान पर पलटवार करते हुए डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि दीदी का सादगी का नाटक सबके सामने आ चुका है, कोयले की दलाली में हाथ काले हो चुके हैं।

BREAKING : गुटबाजी से त्रस्त होकर… कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने… पीसीसी चीफ को सौंपा इस्तीफा

मध्यप्रदेश में सत्ता छिनने के बाद से कांग्रेस में जहां गुटबाजी हावी हो गई है, वहीं सालों से पार्टी के लिए मेहनत करने वालों का मोहभंग होता जा रहा है। इसी गुटबाजी की वजह से विदिशा के कांग्रेस जिलाध्यक्ष कमल सिलाकारी ने पद से इस्तीफा दे दिया है। सिलाकारी ने पीसीसी चीफ कमलनाथ को इस्तीफा पत्र सौंपा है। कमल सिलाकारी ने खुलासा किया है कि पार्टी में गुट बाजी के चलते उन्होंने पद से इस्तीफा दिया है।

बता दें कि बीजेपी और कांग्रेस अभी से निकाय चुनाव को लेकर रणनीति बनाने में जुट गई है। दोनों दल लगातार बैठकें कर रहे हैं। इसी क्रम में बीजेपी के आला नेता एक साथ बैठक करेंगे। निकाय चुनाव में महापौर और पार्षदों के टिकट का क्राइटेरिया क्या होगा, प्रत्याशियों की चयन प्रक्रिया का तरीका क्या होगा, राज्य स्तर पर पार्टी का घोषणा-पत्र और प्रमुख बिंदु क्या होंगे, इस पर बीजेपी की बड़ी बैठक आज होने जा रही है।

“बहुत हुई महँगाई की मार, अबकी बार नही चाहिए अडानी अम्बानी की सरकार”… “मोदी है तो महँगाई है” -युवा कांग्रेस का महँगाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन… अमित द्विवेदी…

देश में लगातार Petrol diesel LPG खाद्य तेल एवं अन्य खाद्य सामग्री के लगातार बढ़ते दामों के खिलाफ आज छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचन्द्र कोको पाढ़ी के निर्देशानुसार, जिला अध्यक्ष आकाशदीप शर्मा के नेतृत्व में रायपुर के तेलीबांधा स्थित मरीन ड्राइव में विरोध प्रदर्शन किया | प्रदर्शन के दौरान पेट्रोल के बढ़ते दामों को दर्शाने युवा कांग्रेस के साथियों ने कार को रस्सी से खींच कर पेट्रोल पंप तक ले गए और वहां ₹160 प्रति लीटर की दर से 1 लीटर पेट्रोल अपनी गाड़ी में डलवाया। मीडिया से बात करते हुए जिला अध्यक्ष आकाशदीप शर्मा ने बताया कि “मोदीजी ने 2014 में सरकार में आने के लिए नारा दिया था ‘बहुत हुई महँगाई की मार, अबकी बार मोदी सरकार’ इसके विपरीत काम करते हुए आज केंद्र सरकार की नीतियों की वजह से पेट्रोल की कीमत 100 रु एवं डीजल 90 रु प्रति लीटर, तत्कालीन कांग्रेस सरकार में पेट्रोल एवं डीजल की कीमत आज से आधी थी,महँगाई और बेरोजगारी के बढ़ने से आज देश के गरीब एवं मध्यम वर्गीय जनता की स्थिति दयनीय है” मीडिया चेयरमैन विवेक अग्रवाल ने बताया कि “अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत स्थिर होने के बावजूद भी लगातार बढ़ते पेट्रोल और डीजल की कीमत के कारण ट्रांसपोर्ट महँगा हो रहा है फलस्वरूप खाद्य सामग्री की कीमत बढ़ रही है, आने वाले समय मे भुखमरी और बेरोजगारी बढ़ेगी, जिससे गरीब मजदूर एवं किसान आत्महत्या करने तक मजबूर हो सकते है”
युवा कांग्रेस ने केंद्र सरकार से नीतिओ में बदलाव कर महँगाई पे काबू करने एवं आम आदमी के अधिकार एवं हित में कदम उठाने की मांग की।
प्रदर्शन में आशीष द्विवेदी,ऋषि बारले, अमित द्विवेदी, सोमा ठाकुर, सागर दुलानी,सार्थक शर्मा, फहीम शेख, नवाज़ खान, गोविंद रेगे, रितेश सिंग, सनी वाही, सुफियान खान, हेमन्त सिन्हा, जीतू बारले एवं अन्य युवा कांग्रेस के साथी उपस्थित थे।

अमित द्विवेदी
प्रदेश मीडिया समन्वयक,
युवा कांग्रेस छत्तीसगढ़

रायपुर – पैट्रोल डीजल में हो रही बेतहाशा बृद्धि और बढ़ रही महगाई के खिलाफ , आज केंद्र सरकार के खिलाफ, भारतीय युवा कांग्रेस द्वारा किया गया प्रदर्शन -अमित द्विवेदी

भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीवी श्रीनिवासन जी ,के व प्रदेश अध्यक्ष छत्तीसगढ़ पूर्णचन्द्र पाढ़ी जी के निर्देश पर ,रायपुर जिला अध्यक्ष श्री आकाशदीप शर्मा जी के नेतृत्व में युवा कांग्रेस रायपुर द्वारा पेट्रोल डीजल रसोई गैस की बेतहाशा मूल्यवृद्धि के विरोध में मरीनड्राइव तेलीबांधा से जय जवान पैट्रोल पम्प होते हुए

रायपुर तक रैली प्रदर्शन कर केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ मोदी है तो महंगाई है को लेकर शहर के मुख्य चौराहों में पेट्रोल पंपों में मुख्य मार्गो में जाकर विरोध प्रदर्शन किया गया जिसमे मुख्य रूप से उपस्थित रहे ,श्री आकाश दीप शर्मा ,श्री विवेक अग्रवाल, श्री अमित द्विवेदी, श्री गोविन्द जी, श्री आशीष द्विवेदी एवं सैकड़ो की संख्या में कार्यकर्त्ता उपस्थित रहे !

BREAKING : लोक सभा में गृह मंत्री अमित शाह… ने कांग्रेस को जमकर खरी-खोटी सुनाई

लोकसभा में आज गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस को जमकर खरी-खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि जिन्हें पीढ़ियों तक शासन करने का मौका इस देश ने दिया है, वे अपने गिरेबान में झांककर देंखे कि वे सवाल पूछने के हकदार भी हैं या नहीं। गृह मंत्री ने कहा कि इस वक्त जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने जैसा कोई मामला नहीं है, वक्त आने पर वह भी किया जाएगा।

गृह मंत्री अमित शाह ने सवाल पर सवाल दागते हुए कहा कि सालों तक धारा 370 लागू करके रखने जाने का क्या तात्पर्य था? पहले इस बात का जवाब देश को दिया जाना चाहिए कि आखिर किसके दवाब में आजादी से लेकर 70 सालों तक 370 से जम्मू-कश्मीर को क्यों मुक्त नहीं किया गया।

BREAKING : वित्त मंत्री ने राहुल को कहा… देश का नाश करने वाला… तो सदन में फिर गूंजा “दामाद”

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को संसद में बजट भाषण पर चर्चा का जवाब दिया। इस दौरान उन्होंने फिर दामाद शब्द का इस्तेमाल करते हुए सोनिया और राहुल गांधी पर तंज कसा। उन्होंने राहुल गांधी को देश का नाश करने वाला आदमी बताया। उन्होंने कहा कि राहुल कई मुद्दों पर फर्जी कहानियां सुनाते हैं और वो डूम्सडे मैन ऑफ इंडिया हैं। निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा में भी दामाद शब्द का इस्तेमाल किया था।

वित्त मंत्री ने राहुल गांधी के हम दो और हमारे दो वाले बयान पर भी जवाब दिया। उन्होंने कहा, ष्हम और हमारे दो का मतलब है- दो लोग पार्टी को संभालेंगे और दो अन्य लोग हैं, जिन्हें संभालना है यानी बेटी और दामाद। हम ऐसा नहीं करते हैं। हमने 50 लाख स्ट्रीट ट्रेडर्स को एक साल तक 10 हजार दिए। ये स्ट्रीट वेंडर्स किसी के घनिष्ठ मित्र नहीं हैं।श्
निर्मला यहीं नहीं रुकीं। उन्होंने कहा, ’जो लोग हम पर लगातार आरोप लगा रहे हैं कि हम करीबियों के लिए काम करते हैं, उन्हें बता दूं कि स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर योजना किसी करीबी के लिए नहीं है। उधर, दामादों को उन राज्यों में जमीनें बांटी गईं, जिनमें कभी कुछ पार्टियों का शासन था। जैसे राजस्थान हरियाणा में। हमारे करीबी कौन है? हमारी करीबी इस देश की आम जनता है।’

राहुल ने साधा केंद्र पर निशाना, कहा- किसानों के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए, तो मोदी कौन हैं

नई दिल्ली। केन्द्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर प्रत्यक्ष निशाना साधते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने कहा कि वह अपने दोस्तों के लिए रास्ता साफ करना चाहते हैं। गांधी ने कहा कि जिस दिन ये कानून लागू हो गए ये जो धंधा 40% लोगों का है ये पूरा धंधा 2 लोगों के हाथ में चला जाएगा।

राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री पर कटाक्ष करते हुए कहा कि देश के किसान के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए तो नरेंद्र मोदी कौन हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि आज नहीं तो कल केंद्र सरकार को इन कानूनों को वापस ही लेना पड़ेगा। गांधी गंगानगर जिले के पदमपुर कस्बे में किसान महापंचायत को संबोधित कर रहे थे। किसान आंदोलन को पूरे देश का आंदोलन बताते हुए उन्होंने कहा कि इसका दायरा अभी और बढ़ेगा। केंद्र सरकार द्वारा किसानों की कानून वापस लेने की मांग नहीं मानने की ओर इशारा करते हुए गांधी ने कहा, ‘‘यह शर्म की बात है। यह आंदोलन फैलेगा। यह आंदोलन किसानों से शहरों में फैलेगा। इसलिए मैं नरेंद्र मोदी से कह रहा हूं कि उन्हें किसानों की बात सुन लेनी चाहिए। अंत में करना ही पड़ेगा।” उन्होंने कहा, ‘‘’ हिंदुस्तान के किसान, मजदूरों के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए तो नरेंद्र मोदी कौन हैं। कानून तो वापस लेने ही पड़ेंगे। इसलिए कह रहा हूं कि आज ले लो ताकि देश आगे बढ़े … लेकिन जिद कर रहे हैं।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि देश का किसान और मजदूर आने वाले दिनों में प्रधानमंमत्री को अपनी शक्ति दिखा देगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के साथ पूरा हिंदुस्तान खड़ा है। उन्होंने कहा कि यह हिंदुस्तान का आंदोलन है बस किसान ने अंधेरे में दिया जलाया है। उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी आंदोलनरत किसानों को तीन विकल्प देने की बात करते हैं और ये तीन विकल्प हैं ‘पहला भूख, दूसरा बेरोजगारी और तीसरा आत्महत्या’।” गांधी ने कहा कि खेती से देश में करोड़ों लोग जुड़े हुए हैं। यह सिर्फ किसानों का नहीं, इसमें किसान हैं छोटे दुकानदार, मजदूर, व्यापारी, मंडी पल्लेदार व आढतिया व करोड़ों लोग हैं कृषि कार्य करते हैं। यह 40 लाख करोड़ रुपये का कारोबार है। यह दुनिया का सबसे बड़ा कारोबार है।

उन्होंने कहा, ‘‘इस कारेाबार में और भारत के बाकी कारोबार में फर्क है। बाकी कारोबार में एक या दो उद्योगपतियों का नियंत्रण होता है। लेकिन यह एक व्यापार है जिसे करोड़ों लोग चलाते हैं और यह किसी एक का नहीं है। ये एक बिजनेस है जो भारत माता का बिजनेस है। पूरे देश का और इसमें हिंदुस्तान के 40 प्रतिशत लोगों का व्यापार है।” गांधी ने आरोप लगाया कि अगर केन्द्र के नए कृषि कानूनों को लागू किया गया तो इसका फायदा किसानों, मजदूरों, मध्यम वर्ग या उपभोक्ताओं को नहीं बल्कि दो तीन अरबपति उद्योगपतियों को होगा। उन्होंने कहा कि मोदी इस व्यापार को दो तीन लोगों के हाथ में देना चाहते हैं इसलिए ये कानून लाए गए हैं। उनके अनुसार कोरोना काल में जब सारे धंधे ठप हो गए कृषि ही ऐसा व्यापार था जो बंद नहीं हुआ। किसान ने हिंदुस्तान को बचाया। गांधी ने कहा कि जब उन्होंने आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए संसद में कुछ पल का मौन रखा तो ‘भाजपा एक सांसद एक मंत्री आधे मिनट के लिए खड़े नहीं हुए… जो शर्म की बात है। उन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण काल में बेहतर प्रबंधन के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व राज्य सरकार को बधाई दी।

BREAKING : केंद्र ने रोका नवा रायपुर का फंड… बिफरे सीएम बघेल… कहा, भाजपा ने कमीशनखोरी के लिए… बनाया था प्रोजेक्ट

रायपुर। केंद्र सरकार ने नवा रायपुर विकास प्राधिकरण के लिए स्वीकृत 216 करोड़ के जारी फंड को रोक दिया है। यह फंड नवा रायपुर को विकसित करने के लिए जारी किया गया था, लेकिन अब केंद्र सरकार ने फंड रिलीज करने से इंकार कर दिया है। फंडिंग रोक जाने की खबर के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जमकर बिफर पड़े हैं। उन्होंने इस मामले को लेकर केंद्र सरकार को जहां आड़े हाथ लिया, वहीं भाजपा पर बड़ा आरोप भी मढ़ दिया है।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्पष्ट कह दिया कि नवा रायपुर स्मार्ट सिटी भाजपा की कमीशनखोरी का प्रोजेक्ट था। जब प्रदेश में भाजपा की सत्ता थी, तब केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट के लिए 216 करोड़ की राशि को स्वीकृत कर दिया था। अब, जबकि भाजपा सत्ताहीन हो चुकी है, तो स्मार्ट सिटी के लिए जारी धनराशि राज्य के खाते में डालने से केंद्र सरकार मुंह चुरा रही है।
सीएम बघेल ने कहा कि कांग्रेस सरकार नवा रायपुर को माॅडल के तौर पर विकसित करना चाहती है। राज्य सरकार वहां बसाहट के लिए तैयार है और मुख्यमंत्री निवास से लेकर मंत्रियों, अधिकारियों सहित अन्य तरह के आवास बनाए जाने की कोशिश में है, पर केंद्र सरकार स्वीकृत धनराशि रोककर विकास योजना में बाधा खड़ा करने का प्रयास कर रही है।
मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि यह भाजपा शासन काल में प्रस्तावित योजना है। यदि योजना को गति नहीं दी गई, तो नवा रायपुर खंडहर में तब्दील हो जाएगा और अब तक खर्च किए हजारों करोड़ रुपए बर्बाद हो जाएंगे। सीएम बघेल ने कहा कि वे इसके लिए केंद्र सरकार से बात करेंगे, ताकि स्वीकृत फंड नवा रायपुर के खाता में डाला जा सके और विकास को गति दी जा सके।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कोवैक्सिन को लेकर दिया बयान…

रायपुर। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बड़ा बयान दिया है। मंत्री सिंहदेव ने कहा कि वे कोवैक्सिन को लेकर केंद्र को दो बार पत्र लिख चुके हैं। मंत्री टीएस सिंहदेव के मुताबिक केंद्र सरकार को 2 बार पत्र लिखा कि तीसरा ट्रायल होने के बाद ही कोवैक्सिन भेजी जाए, लेकिन निवेदन को दरकिनार कर केंद्र सरकार कोवैक्सिन भेज रही है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा यदि इस स्थिति में कोई वैक्सीन नहीं लगवाएगा तो टीका खराब हो जाएगा । राज्य में फिलहाल कोविशील्ड वैक्सनी लगाई जा रही है।

भारत चीन सीमा विवाद को लेकर… रक्षा मंत्री ने दिया बड़ा बयान…

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज संसद में भारत और चीन के बीच तनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने बताया कि महीनों से जारी भारत चीन सीमा तनाव अब खत्म हो गया है। LAC के पास लद्दाख में भारत और चीन के बीच सैन्य गतिरोध समाप्त हो गया है। राजनाथ सिंह ने आज राज्यसभा में बताया है कि भारत-चीन के बीच LAC के पास पैंगोंग लेक विवाद पर समझौता हो गया है और अब यहां से दोनों ही देश की सेनाएं अपने सैनिकों को पीछे हटाएंगी।
भारत-चीन सीमा विवाद पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में बयान दिया। राज्यसभा में राजनाथ सिंह ने कड़े शब्दों में कहा कि चीन ने भारत की जमीन पर कब्जा जमा रखा है लेकिन हम अपनी एक इंच भी जमीन नहीं छोड़ेंगे। रक्षा मंत्री ने बताया कि चीन से आग्रह किया गया है कि ‘एलएसी’ को माना जाए। ‘एलएसी’ पर मौजूदा परिस्थिति को बदलने का प्रयास ना हो। दोनों पक्ष आपसी सहमति का पालन करें।
राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में कहा कि सितंबर 2020 से ही भारत और चीन की सेनाओं और राजनैतिक स्तर पर बातचीत हो रही है। उन्होंने बताया कि पैंगोंग झील(Pengong Lake) से दक्षिण और उत्तर में समझौता हो गया है। उन्होनें बताया कि दोनों पक्ष अपनी सेनाएं हटाएंगे। चीन फिंगर 8 पर रहेगा और भारत फिंगर 3 पर।
राजनाथ सिंह ने बताया कि सीमा पर अप्रैल 2020 से पहले की स्थिति बनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि पेट्रोलिंग अभी नहीं होगी। समझौता होने के बाद पेट्रोलिंग फिर से शुरू होगी। कुछ मुद्दे अभी भी बाकी हैं जिन पर आगे भी चर्चा जारी रहेगी।
रक्षा मंत्री ने आगे कहा कि चीन ने पिछले साल एलएसी के आसपास प्रवेश करने का प्रयास किया था हमने कार्रवाई की। गोला बारूद भी पिछले साल इकठ्ठा किया था। चीन लद्दाख के इलाके में अनाधिकृत तरीके से 1962 से कब्जा बना रहा है, पाकिस्तान ने भी चीन को हमारी जमीन दी है। चीन का अनाधिकृत तरीके से 43 हजार वर्ग किलोमीटर कब्जा है। इससे चीन और भारत के संबंधों पर असर पड़ा है. चीन ने गोल बारूद एलएसी पर इकठा कर लिया है।

राज्यसभा में राजनाथ सिंह ने कहा कि हम नियंत्रण रेखा पर शांतिपूर्ण स्थिति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भारत ने हमेशा द्विपक्षीय संबंधों को बनाए रखने पर जोर दिया हैष हमारे सुरक्षा बलों ने साबित कर दिया है कि वे देश की संप्रभुता की रक्षा के लिए किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हैं।

POLITICS : बघेल पर कांग्रेस का बड़ा आरोप… निर्वाचन निरस्त करने की मांग… पढ़िए क्या है पूरा मामला

रायपुर। कांग्रेस ने दुर्ग सांसद विजय बघेल के निर्वाचन को निरस्त किए जाने की गुहार लगाई है। भाजपा सांसद बघेल पर कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि चुनावी शपथ पत्र में कृषि भूमि को साजिश के तहत छिपाया गया है।

कांग्रेस का दावा है कि सांसद विजय बघेल ने लोकसभा चुनाव में कृषि भूमि 1.35 हेक्टेयर दर्शाया है, जबकि ताजा परिस्थितियों में विजय बघेल ने 16.65 एकड़ रकबे का 249 क्विंटल धान उन्होंने बेचा है।

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा सांसद विजय बघेल ने ना केवल झूठा शपथ-पत्र दाखिल किया, बल्कि संविधान की मर्यादा का भी उल्लंघन किया है। कांग्रेस ने शपथ पत्र में गलत जानकारी दिए जाने के मामले पर विजय बघेल का निर्वाचन रद्द करने की मांग की है।

सांसद बघेल के शपथ पत्र को लेकर ग्राम पतोरा निवासी अश्विनी साहू ने निर्वाचन आयोग में शिकायत दर्ज कराई है।

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू आज लेंगे बैठक… इन मुद्दों पर होगी चर्चा…

रायपुर। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू आज गृह विभाग की बैठक लेंगे। बैठक नवा-रायपुर अटल नगर स्थित मंत्रालय भवन में दोपहर 3 बजे होगी।
लंबित उप-निरीक्षक भर्ती, निरीक्षक से उप-पुलिस अधीक्षक पदोन्नति, राजनीतिक प्रकरण वापसी, चिटफंड, CID में लंबित मामले व अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर होगी चर्चा।

महापौर एजाज ढेबर के ट्वीट से तिलमिलाई पंगा गर्ल… कहा…

रायपुर के महापौर एजाज ढेबर ने बीजेपी और एक्ट्रेस कंगना रनौत पर ट्वीट कर निशाना साधा था।
अपने ट्वीट में ढेबर ने लिखा था कि-

भाजपा आईटी सेल हेड @KanganaTeam और सारे फर्जी देश भक्त (अंधभक्त) देश में जंग का माहौल बनाकर अपना स्वार्थ सिद्ध करने में लगे हैं।
ये ऐसा लग रहा मानो @BJP4India
और @narendramodi
सरकार ने भारत के किसानों के विरुद्ध जंग का ऐलान कर दिया है।
इस पर कंगना रनौत ने ट्वीटस कर पलटवार किया है, कंगना ने अपने ट्वीट में लिखा कि ये कोई इटालियन सरकार नहीं है, ये राम राज्य है, श्रीराम ने समुद्र देवता से भी महीनों तपस्या करके रास्ता मांगा था,जब नहीं मिला तो फिर क्या हुआ..

POLITICS : कांग्रेस नेता के बिगड़े बोल… कहा, राम के नाम पर लेते हैं चंदा… फिर जाम छलकाते हैं भाजपाई

कांग्रेस नेता कांतिलाल भूरिया के विवादित बयान के बाद अब भाजपा ने सिलसिलेवार भूरिया पर हमला बोला है। इस मामले पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि ’’यत पिंडे तत ब्रह्मांडे’’ जैसी शिक्षा मिली है, वैसा ही कहा जा रहा है, मिश्रा ने कहा कि भूरिया का जो बयान है वह आसुरी प्रवृत्ति का द्योतक है। उनके गुरु दिग्विजय सिंह जो है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि द्वापर युग से सतयुग तक हम देखते हैं कि जब जब कोई अच्छा काम होता था उसमें आसुरी शक्तियां व्यवधान डालती थी, आज भी कुछ वैसा ही है। इसीलिए श्री राम मंदिर के निर्माण संबंधी धन संग्रह में इस प्रकार के बयान दिए जा रहे हैं।

दरअसल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कांतिलाल भूरिया ने अयोध्या में निर्माणाधीन रामलला के मंदिर निर्माण के लिए देशभर में जारी चंदा को लेकर बयान दिया। भूरिया ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के बहाने भाजपा के लोग चंदा वसूली कर रहे हैं और उसी पैसे से जाम से जाम टकरा रहे हैं। भूरिया के इस बयान पर बीजेपी नेता और मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि भूरिया का बयान शर्मनाक है, भूरिया और कांग्रेस राम के नाम को बदनाम कर रही हैं। भाजपा कार्यकर्ता चंदा वसूली नहीं कार सेवा कर रहे हैं। भूरिया का बयान उनका चरित्र बता रहा है।

वहीं मध्यप्रदेश के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने राम मंदिर धन संग्रह को लेकर कांतिलाल भूरिया के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि भूरिया अपने राजनैतिक गुरु दिग्विजय सिंह से ही कुछ सीख लेते, मुस्लिम परस्त होते हुए भी दिग्विजय ने राम मंदिर के लिए चंदा दिया है। वहीं बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि उनके क्षेत्र में धर्मांतरण होता है तब क्यों सवाल खड़ा नहीं करते भूरियाजी? आदिवासियों को हिंदुओं से काटने का प्रयास होता है तब सवाल क्यों नहीं उठाते? जब अलगाववद की बात होती है तब जबान क्यों नहीं खुलती? किसके कहने पर षड्यंत्र का शिकार हो रहे हैं?

आम बजट पर रमन सिंह का बड़ा बयान : देश की अर्थव्यवस्था में नया रफ़्तार देखने को मिलेगा… रोज़गार के अवसर मिलेंगे… साथ ही कहि ये बातें 

रायपुर। कोरोना काल में देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने तीसरा आम बजट पेश किया, जिसपर छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यंमंत्री रमन सिंह ने कहा कि नया बजट और इसकी मूल भावना आत्मनिर्भर भारत बनाने का एक प्रयास है, उन्होंने कहा अर्थव्यवस्था शून्य होने के बाद का बजट है हालांकि इस बार की बजट में कोई टैक्स नहीं लगाया गया है, जो सबके लिए बेहतर है। ये बजट किसानों की आमदनी दुगनी और स्वस्थ भारत के सपने को साकार करने वाली बजट है ,पूंजीगत व्यय में 34 .5 % की वृद्धि में किया गया है।

इस बजट से रोजगार को नए अवसर मिलेंगे ,विदेशी निवेश बढ़ेगा और जो आज की स्थिति है उसे एक नया रफ़्तार देखने को मिलेगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने स्वच्छ भारत अभियान और जल मिशन की सराहना की है। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष से अधिक व्यवस्था स्वास्थ्य सेक्टर में 2,38000 लाख करोड़ की व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग के लिए खर्च किया गया ,वहीं उज्ज्वला योजना में एक करोड़ का प्रावधान रखा गया और किसानों को 1 हज़ार और मंडी बनाने का आदेश दिया गया है।