WHETHER: छग के कई इलाकों में… आधी रात बेमौसम बरसे बदरा… अभी भी बारिश के आसार

रायपुर। बीती आधी रात छत्तीसगढ़ में मौसम ने अचानक करवट ली और प्रदेश के कई जिलों में आधी रात बेमौसम बदरा बरस पड़े। अचानक मौसम में आई इस बदलावट का बुरा असर फसलों पर पड़ा है। शुक्रवार रात से पत्थलगांव में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। आंधी तूफान से आम और लीची की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है।

बेमौसम बारिश और आंधी ने महुआ की फसल को भी काफी नुकसान पहुंचाया है। इस प्राकृतिक आपदा ने एक बार फिर किसानों की चिंता बढ़ा दी है। आपको बता दें कि राजधानी के साथ कुछ इलाकों में भी शुक्रवार रात से तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश दर्ज की गई है।

पेंड्रा में भी मौसम का मिजाज बदला है। गौरेला पेंड्रा मरवाही बारिश हो रही है। अमरकंटक वेंकटनगर इलाके में भी बारिश हो रही है। बारिश से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। न्यूनतम तापमान पहुंचा 15 डिग्री दर्ज किया गया है।

वहीं अंबिकापुर-सरगुजा में भी मौसम ने करवट ली है। शुक्रवार रात में करीब 3 घंटे तक यहां बारिश हुई है। बारिश के बाद शनिवार की सुबह फिजा में एक बार फिर ठंड घुल गई है।

WHETHER : राजधानी सहित प्रदेश में… तीन दिनों तक बारिश के आसार… जारी किया गया अलर्ट

रायपुर। छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश समेत देश उत्तर भारत के कई राज्यों में मौसम में बदलाव हुआ है। जिसके चलते अगले दो दिनों तक बारिश के आसार है। भारतीय मौसम विभग ने अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि आने वाले कुछ घंटों में कई राज्यों में धूल भरी आंधी के साथ बारिश के आसार है। कई जगहों पर यलो अलर्ट भी जारी किया है।

मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में बारिश की संभावना

प्रदेश में आज मौसम का मिजाज बदल गया। सुबह से ही आसमान में बादल छाए हैं। जिसके चलते तापमान में कमी आ गई। बता दें कि छत्तीसगढ़ में बीते कई दिनों से तामपान में बढ़ोतरी होने के कारण भीषण गर्मी पड़ रही थी। वहीं अब मौसम में बदलाव होने से गर्मी से राहत मिली है। मौसम विभाग ने 13 मार्च तक अलर्ट जारी किया है। प्रदेश के कई जगहों में बारिश और कहीं-कहीं ओलावृष्टि की संभावना है। बात करें मध्यप्रदेश की तो यहां भी आज सुबह से बादल की अटखेली देखने को मिल रही है। कई जिलों में घूल भरी आंधी भी चली। अगले 24 घंटे में बारिश और कहीं-कहीं ओलावृष्टि की संभावना है।

इन राज्यों में अलर्ट
11 से 13 मार्च 2021 तक उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड और ओडिशा में हल्की बारिश हो सकती है तो वहीं असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, तटीय कर्नाटक और सौराष्ट्र व कच्छ के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की आशंका है तो कहीं पर ओलावृष्टि की भी संभावना है।

मौसम अलर्ट : राजधानी रायपुर में हो रही बारिश… प्रदेश में अगले दो दिनों तक ऐसे ही रहेगा मौसम… कही बर्फबारी तो कहीं बारिश… बढे़गी ठंड… मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

रायपुर । प्रदेश में अगले दो दिनों तक लोगों को ठंड से राहत नहीं मिलने वाली है। मौसम विभाग ने अगले दो दिनो तक इसी तरह से ठंड और कुछ इलाकों मे बारिश होने की संभावना जताई है। मौसम विभाग की माने तो रायपुर सहित प्रदेश के कुछ स्थानों में अगले दो दिनों तक गरज चमक के साथ हल्की वर्षा हो सकती है। वहीं आज की बात करें तो प्रदेश के कई कई हिस्सों में देर शाम को बारिश के साथ बर्फबारी भी देखने को मिली है। जशपुर में भी आज शाम बर्फबारी हुई हैं, जिस वजह से जशपुर में कड़ाके की ठंड बड़ गयी है। वहीं रायपुर में भी आज दोपहर में धूप निकलने के बाद शाम में अचानक से बारिश शुरू हो गई है। बारिश की वजह से ठंड बढ़ गई है।

वहीं प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमा सरगुजा के अंम्बिकापुर में 11.0 सी तक दर्ज किया गया तथा सर्वाधिक अधिकतम तापमान जगदलपुर व दुर्ग में 30.2 सी दर्ज किया गया है। माना एयरपोर्ट 28.0, बिलासपुर 27.4, पेंड्रा रोड 25.2, अम्बिकापुर 25.0, जगदलपुर 30.2, दुर्ग 30.2 राजनांदगांव 27.4दर्ज किया गया है।

महासमुन्द जिले में फिर से मौसम ने बदला मिजाज, जिले के कई जगहों पर बारिश होने संभावना


छत्तीसगढ़ के महासमुन्द जिले में में फिर मौसम का मिजाज बदल गया है। गुरुवार सुबह जिला महासमुन्द में झमाझम बारिश ने लोगों को रजाई में दुबकने के लिए को वापस गरम कपड़ों की जरुरत महसूस हुई।महासमुन्द जिले के कई जगहों में बेमौसम बारिश के बाद सुबह घना कोहरा देखा गया,कोहरा छाया रहने के चलते लोगों को आने-जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ा। इलाके में 2 दिन पहले बारिश के साथ ओले गिरे थे। छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में बेमौसम बारिश से फसलों को भी नुकसान पहुंचा है।

मौसम अपडेट: राज्य के कई हिस्सों में बारिश के साथ ओले गिरने की संभावना.

छत्तीसगढ़ के मध्य व उत्तर में आने वाले दिनों में 5 व 6 फरवरी को बारिश के साथ कहीं-कहीं ओले गिरने के आसार हैं। बादलों की तेज गर्जना के कारण गाज भी गिरने की आशंका है। मौसम विभाग के अनुसार 4 से 5 फरवरी तक न्यूनतम तापमान में 4 से 5 डिग्री की बढ़ोत्तरी होगी। वहीं अधिकतम तापमान 1 से दो डिग्री बढ़ेगा।

फरवरी में भी मध्य व उत्तर छग के दुर्ग, जगदलपुर, बिलासपुर, चिल्फी, जशपुर, कोरिया और मैनपाट में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। वहां पौधों व पत्तों पर बर्फ की पतली परत जम रही है। जशपुर में न्यूनतम तापमान 2.9 डिग्री पर आ गया है। पिछले तीन दिनों में उत्तर व मध्य छत्तीसगढ़ के कई स्थानों में शीतलहर चली। राजधानी का न्यूनतम तापमान 11.8 डिग्री रहा, जो सामान्य से तीन डिग्री कम है।
बिलासपुर में न्यूनतम तापमान 9.8 डिग्री रहा, जो सामान्य से 5 डिग्री कम रहा। दुर्ग जैसे मैदानी इलाके में भी कड़ाके की ठंड रही और वहां तापमान 10 डिग्री रहा।

यह सामान्य से 5 डिग्री कम है। प्रदेश में सबसे कम तापमान अंबिकापुर का 7 डिग्री व अधिकतम तापमान दुर्ग का 32.2 डिग्री रहा। मौसम विज्ञान केंद्र लालपुर के मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के अनुसार पश्चिम विक्षोभ के असर से अगले तीन दिनों बाद बारिश के साथ ओले गिरेंगे। ओले सरगुजा संभाग में गिरेंगे। मध्य छग में बारिश के साथ बादलों की गड़गड़ाहट हो सकती है। बस्तर संभाग में असर कम रहेगा।

मौसम ALERT : प्रदेश के इन जिलो में शीतलहर… राजधानी में भी ठंड… जल्द मिलेगी ठंड से राहत… जानिये कैसा रहेगा मौसम का हाल

रायपुर। उत्तर और मध्य छत्तीसगढ़ के कई स्थान शीतलहर की चपेट में है। दुर्ग, चिल्फी (कवर्धा), पेंड्रा, अंबिकापुर, जशपुर, कोरिया और मैनपाट में पेड़-पौधों पर ओस जमने का सिलसिला जारी है। जशपुर में न्यूनतम तापमान 1.9 डिग्री पर आ गया है। चिल्फी घाट में भी पारा 2 डिग्री के आसपास है।
हालांकि मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार को हवा की दिशा बदलने की संभावना है। ऐसे में उत्तर से हवा नहीं आएगी, इसलिए ठंड से थोड़ी राहत मिलेगी। जनवरी के आखिरी दो दिन व फरवरी का पहला दिन काफी सर्द भरा रहा। इन तीन दिनों में उत्तर व मध्य छत्तीसगढ़ के कई स्थानों में शीतलहर चली। राजधानी का न्यूनतम तापमान भी 31 जनवरी व एक फरवरी को 12-12 डिग्री रहा। जनवरी का यह सबसे कम तापमान रहा।

पिछले 11 साल में दूसरी बार जनवरी में न्यूनतम तापमान 12 डिग्री रहा। 2014 में 29 जनवरी व 2021 में 31 जनवरी को न्यूनतम तापमान 12 डिग्री रिकार्ड किया गया। बिलासपुर में न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री रहा, जो सामान्य से 7 डिग्री कम था। दुर्ग जैसे मैदानी इलाके में भी कड़ाके की ठंड रही और वहां तापमान 9.6 डिग्री रहा। यह सामान्य से छह डिग्री कम है। मौसम विज्ञानी केंद्र लालपुर के मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के अनुसार हवा की दिशा बदलने के कारण रात के तापमान में बढ़ोत्तरी होगी। हालांकि शुष्क हवा के कारण बादल नहीं छाएंगे।

मौसम अपडेट : प्रदेश में फिर लौटी ठंड… रायपुर, बिलासपुर समेत इन जिलों में 4 डिग्री गिरा पारा… अगले कुछ दिन ऐसा रहेगा मौसम का हाल… 

रायपुर। उत्तर भारत से ठंडी हवा आने के कारण प्रदेश में ठंड फिर लौट आई है। शनिवार को पेंड्रारोड, बिलासपुर, कोरिया, जशपुर व मैनपाट में शीतलहर चली। राजधानी में भी न्यूनतम तापमान 4 डिग्री तक गिर गया। इससे ठंड बढ़ गई है। रविवार को उत्तर छत्तीसगढ़ के कई जिलों में शीतलहर चलने व कुछ स्थानों पर घना कोहरा छाने की संभावना है।
उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। दो दिन बादल छाए रहने के बाद मौसम खुला और उत्तर की ठंडी हवा प्रदेश में आ रही है। यही कारण है कि शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात से ठंड बढ़ गई है। शनिवार को सुबह भी देर तक ठंडी हवाएं चलती रहीं। शाम को भी ठंडक बढ़ गई। राजधानी में न्यूनतम तापमान 15.6 डिग्री पहुंच गया है। शुक्रवार की तुलना में यह 3.6 डिग्री कम है। यह सामान्य से दो डिग्री ज्यादा रहा।

लाभांडी में न्यूनतम तापमान 14.4 डिग्री रहा। पेंड्रारोड में रात का तापमान सामान्य से 5, बिलासपुर में 4 व अंबिकापुर में 3 डिग्री कम रहा। दूसरी ओर बस्तर संभाग में तापमान पर ज्यादा असर नहीं पड़ा है। जगदलपुर में न्यूनतम तापमान 17.7 डिग्री रहा, यह सामान्य से छह डिग्री ज्यादा है। उत्तरी हवा आने से उत्तर व मध्य छत्तीसगढ़ में न्यूनतम तापमान में 3 से 4 डिग्री की गिरावट आई। शुक्रवार को कई स्थानों पर बारिश हुई। सारंगढ़ व बेमेतरा में एक-एक सेमी वर्षा हुई। बाकी स्थानों पर मौसम खुला रहा। विज्ञान केंद्र लालपुर के मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के अनुसार अभी एक-दो दिन तक ठंड बढ़ेगी।